Posts

Showing posts from November, 2013

The New Bihar

Parliamentary election is due next year, many regional leaders have their eyes on the resulting political scenario after election. It is speculated that no major national party will have clear majority and in such scenario role of regional parties are very important. Talk of third front is on but no one has doubt on the fact that there can not be any government at center without the  support of either BJP or Congress.

The one major regional player in the race to 7 Race Course Road is Nitish Kumar of Janta Dal United. Keeping in mind the equations that may arise after 2014 elections, he aptly distanced himself from BJP, so that tomorrow if need arises, he can embrace Congress with open heart. Nitish Kumar has publicized development of Bihar as his credential to rise for the top post. But what is the truth behind the so called development of Bihar. The term "development of Bihar"  has been used so much in recent days that it has now become cliche. 
Indeed Bihar has illustriou…

ये कहावत जिन्दा क्यूँ है

चीज़ सामान के साथ लोगों की भी आदत हो जाती है। फिर जब जगह-परिस्थिती बदलती है, तो बहुत संघर्ष करना परता है सामंजस्य बैठाने के लिए। दुनिया कहती है कि सब मोह-माया है; "एकला चलो रे" ही सही सिद्धान्त है। पर दूसरी ओर बचपन के निबंधो में अनगिनत बार लिखा वाक्य "मनुष्य एक सामाजिक जीव है। यह महान लोगो के कथन और सदियों से चली चली आ रही कहावते, सब परस्पर विरोधी क्यों है. मैं ऊपर आसमान कि ओर देखा, एक अकेला तारा बड़े शान के साथ टिमटिमा रहा था। दो परस्पर विरोधी विचार जेहन में कौंधे; क्या ये तारा अकेला खुश होगा! क्या क्या वो ये सोच रहा होगा कि अभी तो पुरे आसमान का अकेला राजा है. वही दूसरी सोच ये थी कि क्या इस तारे तो डर लग रहा होगा कि इतने बड़े आसमान में ये अकेला कैसे रहेगा। 

पीछे रोड पर एक बड़ा सा ट्रक कर्कश हॉर्न बजता हुआ निकला। तन्द्रा टूटी। सामने दीवाल पर मैंने लिख रखा है,"First they ignore you, then they laugh at you, then they fight you, then you win." महात्मा गाँधी का ये वाक्य अभी मुझे काफी साधारण सा लगा, पर मुझे याद है, जिन दिनों में मैंने गाँधी जी के विचार को दीवार पर लिखा …