Posts

माना की हम यार नहीं

जब वो मुझसे अलग हुयी तो मुझे लगता था कि कुछ समय बाद मुझे उसके नाम से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। मेरा बाथरूम में रोना, फ़िल्मी गानों में उसको देखना और ऐसे तमाम हज़ार सिम्प्टम जो मेरे बेइन्तेहाँ प्यार में होने की कहानी बयां कर रहे थे - मेरे हिसाब से सब अस्थाई थे। पर आज जब मैं ये लिख रहा हूँ तो उस से मिले हुए सात साल हो चुके है और उफ़, सालों  बाद भी कुछ नहीं बदला। वो फेसबुक के फीड में उसकी फ़ोटो को देख कर दिल वैसे ही ठहर जाता है जैसे सात साल पहले होता था। रोमांटिक गानों  में आज भी मैं हीरो हूँ और वो ही हिरोइन है।  साला गलत टाइम पर  पैदा हो गए। व्हाट्सएप्प और फेसबुक के दौड़ में आपके फीड में उसकी फ़ोटो अपने आप आ जाती है।  आप हो ही इतने कूल की बाकी आधे आशिक़ और हाफ गर्लफ्रेंड की तरह सोशल नेटवर्किंग साइट पर ब्लॉक नहीं कर सकते क्यूंकि ब्लॉक तो आमच्योर लोग करते है। हम तो भाई , पैदा ही मैच्योर हुए थे। काश उस ज़माने में पैदा होते जब दो पुराने प्रेमी एक दूसरे को कही इत्तेफ़ाक़ से मिलते थे।

मेरी कहानी में उसका नाम नहीं लिखना चाहता हूँ। पर दो घण्टे सोचने के बाद भी कोई और उसके नाम के साथ न्याय नहीं कर पा रहा है। ओ…

A day in a life of Gully Cricketer

Image
The hurt ego
It is 4:30 in the evening. I can hear the stadium roaring with noise. Players are on the ground. Stretching themselves, warming up for the match. It's going to be an important match. The pride of our gully should be intact. Last time, that team from neighbouring colony won and they have mocked me every time they got a chance. Even in the school bus! 
But what is the best bowler of our gully doing? 
Holding a pencil; pretending to study but alert enough to keep an eye on dear mother. Finally, the long hot summer made my mother blink her eyes longer than she would like to. And whoosh, I am gone with the winds. Look at me! Coming out of my own house like a thief without making any noise else, mother will wake up and the pride of gully would have to wait for some more days to return.
You think it’s easy
Finally, I reach the ground with a serious face only suited to me as a senior player. I am 13. Come on!! I need to guide these 9-year-olds. Poor souls, they dropped too many ca…

Arrah - The story of 1857

Image
बिहारकाएकदबंगजिलाहै - आरा।यूँतोटशनपूरेबिहारवालोमेंहोताहै, परआरावालोंकीबातहीअलगहै।  "आराजिलाघरबातकउनबातकेडरबा " जैसीप्रसिद्धनारोंकेबावजूदआरावालेकाफीकमजोरदिलकेहै, वरनाआपहीबताइयेलिपिस्टिकसेलगानेसेकौनसेज़िलेमेंभूकंपआताहै।जीहाँ , मैंबातकररहाहूँपवनसिंहकेलोकप्रियगाने "लगवालेतूलिपस्टिकतोहिलेलाआराडिस्ट्रिक्टकी"।
आराकेइतिहासकीबातकरेतो१८५७केअंग्रेजोकेखिलाफहुयीभारतकेस्वतंत्रताकीपहलीलड़ाईमेंआराकानामस्वर्णिमअक्षरोंमेंलिखाजाताहै।जॉनजेम्सहॉलकी१८६०मेंछपीकिताब "टूमंथ्सइनआरा" मेंइसघटनाकाविस्तृतवर्णनहै।जॉनजेम्सहॉलकिताबकीशुरुवातएकअंग्रेजीअफसरकेदिनचर्याकेवर्णनसेकरतेहै।वोकहतेहैकी "एकअंग्रेजीअफसरसवेरेउठताहै, टहलनेजाताहै, नास्ताकरताहैऔरकचहरीजाताहै।कचहरीके

Gaja - The Bangalore traffic diary

Image
Gaja.
Do you know Gaja?
I doubt you do. Gaja is a rebel. He stands for everything that is not socially accepted. Don't believe me? Tell me who negotiates with the car driver in the Bangalore traffic jam and asks him to pull back his car by 15 mm so that Gaja could guide his bike in that narrow space. And where does that narrow space lead to? It goes to the left most edge of the road where he can diligently glide through between the feet-tall footpath and the column of cars. Gaja doesn't have a helmet. His bike has bruises, possibly it has encountered other Gajas over time. His bike is a slave. It's dolled up with cheap decorations. Take the tail lamp, for instance, it has a black sheet covering with "GAJA" cut out in Calibri. It has Mahesh Babu's picture on the front mud guard. But these decorations fail to hide the cuts and scratches. The graphics of TVS are sliced possibly with some rogue truck's dangling parts. One can only guess.
Gaja is not reckless. He…

कुंजिका - धैर्य

Image
हालियासंपन्नहुईभारतबनामऑस्ट्रेलियाश्रृंखलाकेतीसरेटेस्टमेंचेतश्वरपुजारानेअपनीपारीमें५२५गेंदेखेली।ऐसीलम्बीपारीखेलनाकतईआसानकामनहींहै।गेंदबाज़कीबसएकगेंदपरआपकोगलतीकरनीहैऔरहोगयेआऊट।मैदानकीक्षेत्ररक्षणरणनीतिदेखकरअनुमानलगानाकीगेंदबाज़कहाँगेंदडालेगा, टप्पाखानेकेबादगेंदकोपढ़नाकीयेबहारकीओरजाएगीयाअंदर, सीधीरहेगीयाउछलेगी; इसकेबादगेंदकेसाथसमुचितन्यायकरनाएकचुनौतीपूर्णकार्यहै।औरफ़र्ज़कीजियेकीआपये१६घंटेकरेंगे , गेंददरगेंद५००सेज्यादागेंदोंतक।क्याएकाग्रताचाहिएहोगीऐसीबल्लेबाजीकेलिए।गलीक्रिकेटमेंहम३गेंदबिनारनकेजानेपरउतावलेहोजातेहैं , वहीपुजाराने१६घंटेअनुशासनबनायेरखा।अदभुत।
क्याहमपुजारासेअच्छीतरहजीनेकीकलासीखसकतेहै ?
क्याहमरोजमर्राकीजिंदगीकोधैर्यऔरपरिस्थीकेअनुसारनहींजीसकते ?
आजकाज़मानाप्रतिस्पर्द्घाकाहै।कंपनीयांअपनेकर्मचारीयोंकोतयशुदामानदंडोंपरनापतीहै।येप्रक्रियाकुछऐसी
हैकिहरकोईएकजैसी<